शनि महाराज और काल भैरव की कृपा के साथ राहु-केतु के दोषों से मुक्ति दिलाता है कुत्ता

 

हिंदू संकृति की मान्यताओं के अनुसार बहुत-सी चीज़ को शुभ-अशुभ की श्रेणी में रखा गया है जिसे आम भाषा में शकुन-अपशकुन भी कहते हैं I इसी आधार पर विकसित हुआ ‘शकुन-शास्त्र’ हमें कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ प्रदान करता है शनि I

शनि महाराज और काल भैरव
शनि महाराज और काल भैरव

शकुन-शास्त्र के जिस पहलू की आज हम बात करेंगे, वह है कुत्ता से लाभ I मनुष्यों से भी अधिक वफादार, भविष्य वक्ता और एक सच्चा मित्र कहा जाने वाला कुत्ता, शकुन-शास्त्र में “शकुन रत्न” की उपाधि से सम्मानित है I अपनी समझदारी और संवेदनशीलता के कारण इस पशु को घर की सुरक्षा का सबसे बेहतर विकल्प भी माना जाता है I कुत्ता मूक अवश्य होता है परंतु यह एक ऐसा जीव है, जो हर संकट का एहसास पहले ही कर लेता है I इतना ही नहीं अपनी हरकतों से यह शुभ-अशुभ का भी ज्ञान देता है, जैसे कुत्ते धरती पर एक ही जगह सिर रगड़ने से होने वाले आर्थिक लाभ का संकेत देते हैं I

shani sade sati story
काल भैरव की कृपा

काला कुत्ता न्याय के देवता शनि देव का वाहन माना जाता है और इसीलिए घर में काला कुत्ता पालना शनि देव को प्रसन्न करने के सबसे ख़ास उपायों में से एक है I काले कुत्ते को प्रतिदिन खाना खिलाने से शनि महाराज व्यक्ति की सारी समस्याओं का निवारण कर देते हैं और उस पर शनि देव की कृपा हमेशा बनी रहती है I इस पशु की सेवा से आप कुंडली के ढय्या, साढ़ेसाती जैसे समस्त दोष मिटा सकते हैं I

केवल शनि देव से सम्बंधित ही नहीं बल्कि राहु-केतु से सम्बंधित दोषों से भी मुक्ति मिलती है I कुत्ते को तेल से चुपड़ी रोटी खिलाना कालसर्प योग जैसे भयंकर दोष से पीड़ित मनुष्यों के लिए लाभकारी उपाय सिद्ध होता है I इसके साथ ही प्रतिदिन कुत्ते को रोटी खिलाने से सभी तरह के संकट और किसी भी प्रकार की आकस्मिक घटनाओं से भी बचा जा सकता है I

 जानें कुत्ते की महिमा

ज्योतिष विद्या की प्रसिद्ध पुस्तकों में से एक ‘लाल किताब’ में केतु को कुत्ता माना गया है I लाल किताब में वे विद्याएं और मौलिक सिद्धांत सम्मिलित हैं जिन्हें लंकेश्वर रावण ने सूर्य देव के सारथी अरुण से ज्ञात किया था I कुत्ता केतु का प्रतीक माना जाता है, इसीलिए घर में किसी भी रंग का कुत्ता पालना केतु के बुरे प्रभाव को कम करता है I पितृ शांति जसी कर्तव्यों की पूर्ती करने के यदि आप इच्छुक हैं, तो इसके लिए सबसे बेहतर उपाय है कुत्ते को मीठी रोटी खिलाना I

राहु-केतु के दोषों से मुक्ति
राहु-केतु के दोषों से मुक्ति

अब हम आपको बताएँगे कि शनि महाराज और राहु-केतु के अलावा कुत्ता और किसको प्रिय है I यह अद्भुत पशु भगवान भैरवनाथ का भी वाहन है, और इसी कारण रविवार, मंगलवार एवं भैरव जयंती के दिन कुत्ते की पूजा का विशेष महत्त्व है I ऐसी भी मान्यता की पूजा करने वाला कुत्ता यदि काले रंग का हो तो पूजा का माहत्म्य कई गुणा अधिक बढ़ जाता है I काला कुत्ता भगवान भैरव को भी परमप्रिय है और इसीलिए कई भक्त इन्हें प्रसन्न करने के लिए दूध पिलाते हैं और मिठाई खिलाते हैं I अगर आप घर पर आने वाली साडी विपदाओं से मुक्ति चाहते हैं तो बुधवार के दिन सवा किलो जलेबी का प्रसाद काल भैरव को चढ़ाना चाहिए और फिर कुत्ते को भी उस प्रसाद को खिलाना चाहिए I

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>