अंक ज्योतिष (Numerology) – 18 अप्रैल 2017

अंक 1,,10,19,28 – आज का दिन प्रसन्नता और ख़ुशी से भरा रहेगा | परिवार के सहयोग से आपके बल और विश्वास की वृद्धि होगी | यह गुण खुद को मज़बूत बनाने में आपकी शक्ति के रूप में कार्य करेंगे | दिन में आनंद की अनुभूति होगी |

अंक 2,11,20,29 – आज के दिन आपका अंक चोट के योग को दर्शा रहा है, इसीलिए सावधान रहें | स्वास्थ्य के हिसाब से दिन का दूसरा भाग ज्यादा अच्छा नहीं रहेगा | इसी समय चोट या घाव की आशंका है |

अंक 3,12,21,30 – यदि आज आप भटकाव से बच लक्ष्य की ओर खुद को केन्द्रित रखेंगे तो शाम होते-होते कोई बड़ी उपलब्धि हासिल कर सकते हैं | अपने कार्यों में निष्ठा और परिश्रम थोड़ा और बढ़ा दें तो लाभ मिलेगा |

अंक 4,13,22,31 – संभव है कि आज आपकी अपने बड़े भाई या बहन से किसी बात पर तकरार हो जाए| यही तकरार आपका मूड खराब कर सकती है | इस कारण आपका आज का दिन बोझ जैसा बन सकता है |




अंक 5,14,23 – सकारत्मक विचारों से आज आपका मन लबरेज़ रहेगा | एक शक्ति व ऊर्जा का संचार भी पूरे तन में होगा | इस कारण आपकी कार्य क्षमता बेहतर होगी | पूरी लगन और समर्पण के साथ आप अपने कार्यक्षेत्र में प्रदर्शन कर पाएँगे |

अंक 6,15,24 – अपने मिलनसार व्यवहार का लाभ उठाएं और इस क्रम को टूटने ना दें | इससे आज तो फायदा होगा ही साथ ही भविष्य में आपके लिए कई अवसर उत्पन्न होंगे | लोगों से मिलना-जुलना भी एक कला है |

अंक 7,16,25 – आज जो भी परेशानी आएगी, उससे मुक्ति के लिए आपके दोस्त आपके साथ रहेंगे | चाहे नए हों या पुराने सभी मदद के लिए आगे आएँगे | दिल खोलकर मित्रो से बात करें बशर्ते आप सच्चे मित्रों की पहचान कर पाएं |

अंक 8,17,26 – मानसिक व्याकुलता आज आपकी सबसे बड़ी शत्रु बन सकती है | मन की चंचलता काम करने से रोकेगी पर आपको मन को नियंत्रण में करना सीखना होगा | कार्यक्षेत्र में खुद को साबित करना है तो मन को शांत रखना सीखें |

अंक 9,18,27 – दिन की शुरुआत ज्यादा बेहतर रहने की उम्मीद है | जितना हो सके इस भाग का लाभ लेने का प्रयास करें जैसे शुभ कार्य सुबह ही करें आदि | कोई महत्वपूर्ण निर्णय भी शाम पर ना टालें तो अच्छा है |

 

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>