जानें तनाव को दूर भगा अच्छी नींद लेने के उपाय

आज की व्यस्त जीवनशैली में केवल रात ही तो मिलती है, कुछ चैन के पल बिताने के लिए | ऐसे में यदि रात में भी अच्छी नींद ना आए या बार-बार नींद टूटे तो क्या करें | कई बार ऐसा होता है कि हमें एक अजीब-सा डर सताने लगता है और सोने में हम परेशानी  तनाव महसूस करने लगते हैं | यदि आप भी इन परिस्थितियों से गुज़र रहे हैं तो समझ लीजिये हमारा यह लेख आपके लिए ही है |

वैज्ञानिक और ज्योतिषी, दोनों ही अपने-अपने मतों के अनुसार विभिन्न कारण बताते हैं जिनके कारण हमारे साथ ऐसी घटनाएँ होती हैं | आइये कुछ उपायों के बारे में जानते हैं, जो आपकी समस्या तनाव का इलाज कर सकते हैं :-

  • तकिये का प्रकार –

सख्त तकिये के बजाय यदि आप नर्म तकिया इस्तेमाल करते हैं, तो आपको अच्छी नींद आती है | इसके साथ ही तकिये का पोजीशन भी मायने रखता है और एक अहम भूमिका निभाता है | ध्यान रहे, तकिया अधिक ऊँचाई पर होगा तो आपकी नींद में खलल भी डालेगा |

  • इलायची लाएगी नींद –

अच्छी नींद के लिए अगला उपाय है इलायची रखना | जी हाँ ! 5-7 छोटी इलायची एक साफ़ कपड़े में बांधकर तकिये के पास या बेहतर होगा कि तकिये के नीचे ही रख कर सोएं | डर लगना या डर से अचानक नींद टूटने जैसी सारी समस्याएं समाप्त हो जाएंगी |

  • जल भरकर रखें –

सोते समय के डर को भगाने का एक और उपाय यह भी है कि रात को बिस्तर के पास तांबे के एक बर्तन में पानी भरकर रख लें | यदि घर में तांबे का बर्तन उपलब्ध ना हो, तो ऐसी स्थति में मटके (मिट्टी का घड़ा) में भी जल भरकर रख के सो सकते हैं | परन्तु ध्यान रहे कि प्रातः काल उठते ही जल को पौधों की जड़ में डाल दिया जाना चाहिए |

  • बाल खोलकर ना सोएं –

कई महिलाओं को और विशेषतौर पर युवा लड़कियों को बाल खोलकर सोने का शौक होता है, जो आगे चलकर एक आदत का रूप ले लेता है | अगर आप भी ऐसे लोगों की श्रेणी में आती हैं, तो जान लें कि नकारात्मक ऊर्जाओं के कारण बाल खोलकर सोने से भयानक स्वप्न आते हैं, इसीलिए बाल बांधकर ही सोना चाहिए |

  • साफ़ रखें तकिये –

तकिये की सफाई भी नींद को प्रभावित करती है | रात को जब भी अपने बिस्तर पर आएं तो सबसे पहले देख लें कि स्वयं के या पराय बाल अथवा कोई अन्य गंदगी तकिये पर मौजूद ना हो | हर एक हफ्ते में तकिये के कवर को धोकर सुखा लेना चाहिए |

  • तकिये के नीचे रखें चाकू –

तकिये के नीचे चाकू रखकर सोने का उपाय प्रसिद्ध और असरकारक है | यह आपके भय को तो दूर करता ही है, साथ ही छोटे बच्चों के तकिये के नीचे तो चाकू या कोई अन्य नुकीली वस्तु अवश्य रखनी चाहिए |

  • पांव धोने की आदत करेगी फायदा –

सोने से पहले पैर धोने की आदत आपकी दिन भर की थकान को तो मिटाएगी ही और अच्छी एवं आरामदायक नींद भी आएगी | पांव धोने के साथ ही बैड की चादर को भी झाड़कर साफ़ करेंगे तो तारो-ताज़ा उठेंगे |

  • वास्तु शास्त्र बताएगा सही दिशा –

इन सब चीज़ों के साथ वास्तु शास्त्र भी है जो आपकी सही मायने में मदद करता है | वास्तु के अनुसार सोते समय कभी भी पैर दक्षिण दिशा में नहीं होने चाहिए अन्यथा तनाव बना रहता है | साथ ही सिर में भारीपन, बुरे सपने एवं कच्ची नींद जैसी परेशानियां भी होती हैं, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं | दक्षिण दिशा को नर्क की दिशा भी माना जाता है, इसलिए इस ओर पैर करके सोने से आयु भी घटती है |

न्यूमेरोलॉजी (अंकशास्त्र) में छिपा है आपके पिछले जन्म का राज़

  • शयनकक्ष में ये बिलकुल ना रखें-

चलिए अब आपके शयनकक्ष के बारे में बताते हैं | यदि आपके बेडरूम में पलंग के ठीक सामने शीशा लगा हुआ हो, तब भी आपको अच्छी नींद नहीं आएगी | यहाँ तनाव आपका पीछा परछाई की भांति करेगा |

बहुत से लोगों की आदत होती है पलंग के आस-पास चप्पल-जूते उतार कर सोने की | ऐसे लोगों को नींद टूटने की समस्या जरुर होती है | शू-रैक तो कमरे में बिलकुल ही नहीं रखना चाहिए क्योंकि इससे वातावरण में जो नकारात्मकता फैलती है, वो आपकी नींद बर्बाद करती है | फिर भी यदि आपके शयनकक्ष में शीशा व शू-रैक है तो शीशे को सोते समय और शू-रैक को हर समय ढँककर रखना चाहिए |

  • मधुर संगीत सुनने के फायदे-

यह तो बात हुई शास्त्रों की | परन्तु अगर इन सबसे हटकर आज के व्यस्त जीवन की चिंताओं से आपकी नींद में खलल पड़ता है, तो सोते समय संगीत सुनना आपके लिए लाभदाई होगा | परन्तु ख़ास ध्यान रखें कि जो भी संगीत सुनें वह शोर-शराबा वाला या तेज ना होकर मधुर होना चाहिए |

  • प्रभु की प्रार्थना-

बाकी सारे तरीके अगर बेअसर साबित हों तो प्रभु की प्रार्थना करना सबसे कारगर तरीका है | अपनी श्रद्धा अनुसार किसी भी मंत्र या पाठ का जाप करें एवं अपने आराध्य का ध्यान करते हुए सोने की कोशिश करें | जैसे ही आँखों में ईश्वर की प्रतिमा या चित्र आएगा, नींद भी आपको अपने आगोश में लेने लगेगी |

No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>