न्यूमेरोलॉजी (अंकशास्त्र) में छिपा है आपके पिछले जन्म का राज़

न्यूमेरोलॉजी (अंकशास्त्र) में छिपा है आपके पिछले जन्म का राज़

लोग जीते तो वर्तमान में हैं पर उनका ध्यान अकसर उनके भविष्य में लगा रहता हैI न्यूमेरोलॉजी आने वाला समय कैसा होगा, कल का सूरज कुछ नई आशाओं के साथ आएगा या नहीं, करियर सफलता की ऊचाइयों को छू पाएगा या नहीं, इच्छा अनुसार शादी होगी या नहीं, ये वो तमाम सवाल हैं जिनके उत्तर खोजने के लिए व्यक्ति को ज्योतिष विद्या का ही सहारा नज़र आता है I भविष्य के बारे में जानने की जिज्ञासा उत्पन्न होना एक आम बात है परन्तु आपके भीतर क्या अपने अतीत के लिए कोई उत्सुकता नहीं है I यदि आप भी अपने अतीत के बारे में सोचती हैं या सोचते हैं, तो आपके अतीत से जुड़े सवालों के जवाब आज हम आपको अवश्य देंगे I

अंकशास्त्र (न्यूमेरोलॉजी) आपके अतीत से जुड़े सवालों के जवाब देते हैं

जिन लोगों को आज भी ज्योतिष विद्या पर विश्वास नहीं है, उनको हम बताना चाहेंगे कि भविष्य के बारे में जानकारी देने की शत-प्रतिशत गारंटी देती है यह विद्या I सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि सच बात तो यह है कि केवल भविष्य ही नहीं आपके भूतकाल से भी अवगत कराती है यह अद्भुत विद्या I कहते हैं, आत्मा कभी मरती नहीं है अपितु उसका जन्म कई रूपों में बार-बार होता रहता है I तो आपके अन्दर भी यह जानने की इच्छा तो जागृत होती ही होगी कि पिछले जन्म में हमारी आत्मा का क्या रूप था I अतीत का अर्थ केवल यह नहीं होता कि हमरा बीता हुआ कल कैसा था बल्कि इसका एक महत्त्वपूर्ण भाग आपका बीता हुआ जन्म भी होता है, जिसे आम भाषा में पिछला जन्म भी कहते हैं I

आइये आज हम ज्योतिष विद्या की एक प्रसिद्ध शाखा अंकशास्त्र (न्यूमेरोलॉजी) के द्वारा आपके अतीत से जुड़े सवालों के जवाब देते हैं I यह शाखा आपको समझा सकती है कि आप अपने बीते हुए जन्म में क्या रहे होंगे I सबसे पहले आपको यह पता लगाना होगा कि आपकी आत्मा का सफ़र कैसा रहा है, इसके लिए ज़रुरत है अपने जीवन-मार्ग का नम्बर जांचने की I अपनी जन्मतिथि और जन्म-वर्ष का जोड़ करना इसका सीधा-सा तरीका है I

उदाहरण के तौर पर यदि आपकी जन्म तिथि है 23/10/1996, तो आपका योग बनता है 31, अर्थात आपका अंक हुआ 4 (3+1=4) I केवल जीवन मार्ग जानने से काम नहीं बनेगा, इसके बाद आंतरिक अंक ज्ञात करना भी आवश्यक होता है I आंतरिक अंक वह होता है जिसका आपकी आत्मा के साथ सीधा और गहरा सम्बन्ध होता है I आंतरिक अंक जानने के लिए अपने नाम में आए सभी स्वरों (वॉवल) को जोड़ना होगा, यह बिलकुल भी कठिन नहीं है क्योंकि हर एक स्वर को अलग-अलग अंक प्रदान क्या गया है I जैसे ‘ए’ का अंक 1 है, ‘ई’ का अंक 5 है, ‘आइ’ का 9, ‘ओ’ का 6 और ‘यू’ का अंक 3 है I मसलन यदि आपका नाम राहुल है, तो आपके नाम में एक ‘ए’ और एक ‘यू’ होने के कारण आपका आंतरिक अंक 1+3=4  होता हैI

पिछले जन्म तक पहुँचने के लिए थोड़ी मेहनत तो करनी पड़ेगी, अब आपको पार करना होगा तीसरा और अंतिम चरण I इसमें आपको अपने जीवन-मार्ग के अंक और आंतरिक अंक को जोड़कर अपने पिछले जन्म का नम्बर जानना होगा I जैसे ऊपर दिए गए उदाहरण के अनुरूप ऐसे व्यक्ति का पिछले जन्म का अंक बनता है 8 (4+4=8) I यदि आप भी सारे अंकों को जोड़कर अपने पिछले जन्म का अंक प्राप्त कर चुके हैं, तो आइये अब जानते हैं पूर्व जन्म से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में :-

अंको का रहस्य

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 1,10,19,28-

यह अंक आपके बेहतरीन नेतृत्व गुणों को दर्शाता है और बताता है कि पिछले जन्म में भी आप कोई सफल नेता अथवा राजा या रानी रहे होंगे I क्योंकि आपने किसी नेतृत्व की बागडोर संभाली हुई थी इसलिए सामाजिक सम्मान और आलीशान जीवन भी आपको मिला होगा I हालांकि, एक अच्छे पद पर होने के नाते आपके पास नियम-कानून बनाने व तोड़ने की शक्ति भले ही रही हो परन्तु ऐसी भी स्थितियां नज़र आती हैं जिनमे आपको देश निकाला जैसे दंड का सामना करना पड़ा होगा I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 2,11,20,29-

ये नंबर आपके पिछले जन्म में जुड़वाँ होने की स्थिति को दर्शाता है, इसलिए हो सकता है कि इस जन्म में जुड़वाँ भाई या बहन ना मिलने के कारण आप अकेलेपन का एहसास करते हों I इस अंक का सम्बन्ध वैसे तो प्रेम और रिश्तों से है परन्तु पिछले जन्म में दिल के मामले में मिली हारों से आपका जीवन कष्ट में बीता होगा I ख़ुशी की बात यह है कि यहाँ आपको बीते हुए जन्म में ना मिलने वाले प्रेमी या बिछड़े हुए प्रेमी से इस जन्म में मिलने की उम्मीद जगती है I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 3,12,21,30-

नम्बर 3 आपकी बीती हुई जिन्दगी की रचनात्मकता के बारे में बताता है I ऐसे व्यक्ति रचनात्मक तो रहे ही होंगे साथ ही उम्मीद है कि टोन-टोटके जैसे काम भी आप करते होंगे I सुखी परिवार और बड़ी जमीन के साथ पिछला जन्म खुशहाली में बीता होगा, हो सकता है आप कृषि जैसे कार्यो में भी व्यस्त रहे हों I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 4,13,22,31-

ऐसे जातक एक रोमांच भरे जन्म को व्यतीत कर चुके होते हैं, जो पिछले जन्म में सकारात्मक व नकारात्मक दोनों ही दौर से गुज़र के एक दिलचस्प सफ़र तय करके आए होंगे I आपने गरीबी को बहुत ही करीब से देखा होगा, या आप सेना में होने के कारण किसी के कैद में भी रह चुके होंगे I अर्थात ऐसी सम्भावना है कि आपने एक बंदी का जीवन जिया हो I

वेदो मै लिखा है नहाने का सही तरीका जानिए क्या है वो राज जिससे भगवान जल्दी होते  है प्रसन्न 

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 5,14,23-

नम्बर 5 के लोग योद्धा किस्म के रहे होंगे, जिन्होंने युद्ध और लड़ाइयों भरा माहौल बहुत पास से देखा होगा I ये भी हो सकता है कि युद्ध की वजह से आपका जीवन अस्त-व्यस्त हो गया हो, जिसे दोबारा सँभालने के लिए एक लम्बे संघर्ष से आपको गुज़ारना पड़ा हो I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 6,15,24-

ये अंक आध्यात्म और ध्यान से सम्बंधित है, इसलिए मुमकिन है कि आपका समय भी इन्ही में व्यतीत हुआ हो I ये भी पता चलता है कि या तो आप प्रभु ईसा मसीह के समय से हैं या महात्मा बुद्ध के काल से सम्बन्ध रखते होंगे I आप हर जन्म में प्रेम और त्याग की मूर्ती बनकर उभरे हैं I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 7,16,25-

7 नम्बर वाले जातक ईश्वर से एक गहरा जुड़ाव महसूस करने वाले रहे होंगे जिनके लिए आध्यात्म और धर्म सर्वोपरि रहा होगा I आप जिस भी परिवार या समुदाय में रहे होंगे, आपने एक सम्मानित बुज़ुर्ग का जीवन जिया होगा जिसकी मृत्यु भी धोखा देकर धर्म के कारण ही हुई होगी I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 8,17,26-

इन लोगों का व्यवसाय चिकित्सा, वकील या बैंकर जैसा कुछ रहा होगा जो आम लोगों को ऊपरी शक्तियों से मुक्ति दिलवाने की कोशिश में लगे रहते होंगे I एक और अनोखी बात आपका अंक दर्शाता है कि धन ने आपके जीवन में एक रोचक खेल ज़रूर दिखाया होगा I या तो अप धन-संपदा से संपन्न रहे होंगे या अत्यधिक निर्धन जिसे भूख-प्यास से मौत को गले लगाना पड़ा हो I

  • न्यूमेरोलॉजी अंक 9,18,27-

अंकशास्त्र का 9 अंक ऐसे लोगों का होता है जो स्वयं को सर्वश्रेष्ठ मानते हैं I इनकी नज़रों में ये सबके नेता या मार्गदर्शक होते हैं चाहे इस भूमिका को कोई स्वीकार करे या ना करे I इसी कारण ऐसी स्थिति दिखती है जैसे इन्होंने जन्म-जन्मान्तर तक केवल नेतृत्व किया हो I

हालांकि, अपने बारे में ना सोचकर सबका ख्याल रखने वाले ये जातक अकसर माता-पिता से अच्छे सम्बन्ध नहीं बना पाते I

Credits:
Photo Credits: Google Images

3 Comments
  1. Meri sadi ke bare main bataiyen. Kab hogi sadi aur hone wale husband ke bare main bhi kuch bataiye. Love marriage ya arrange marriage hogi?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>