ज्योतिष से जानिये धन-हानि रोकने के उपाय

ज्योतिष शास्त्र में आपको आपकी हर समस्या का समाधान मिलता है | चाहे गृह क्लेश से मुक्ति की बात हो या धन प्राप्ति की इच्छा हो, हर सवाल का जवाब ज्योतिष विद्या आपको उपलब्ध कराती है | एस्ट्रोलॉजी के जिस पहलू की बात आज हम करेंगे वो है धन हानि से बचाव के उपाय |

कभी-कभी हमें लगातार आर्थिक घाटा झेलना पड़ता है परन्तु उससे मुक्ति पाना हमारे बस में नहं होता | यदि आप भी इस परेशानी का शिकार हैं, तो आज हम आपको पांच ज़रूरी उपाय बताएँगे| एस्ट्रोलॉजी के ये उपाय अपनाकर आप भी अपने जीवन में बदलाव ला सकते हैं :-

  1. सर के पास हो दूध भरा लोटा – जब भी सोने जाएं तो अपने बिस्तर के पास सर की तरफ दूध भरा हुआ एक लोटा रखें | प्रातः काल उठते ही विशेष ध्यान रखें कि आपको यह दूध बबूल की जड़ में चढ़ा देना है | इससे अगर बुरी नज़र लगने के कारण आपको जो धन-हानि हो रही होगी, उससे राहत मिलेगी |
  2. गणेश मंत्र का जाप – जब भी पूजा करने बैठें तो प्रथमपूज्य गणेश भगवान का ध्यान भी अवश्य करें | इसके साथ ही श्री गणेशाय नमःमंत्र के 108 बार जप के साथ दूर्वा अर्पित करें | इस युक्ति को अपनाने से भी आपके घर की सुख-समृद्धि में वृद्धि होगी |career astrology
  3. 3.शिवलिंग पर चढ़ाएं हल्दी की गाँठ – तीसरा उपाय है गुरूवार को हल्दी की गांठों को शिवलिंग पर चढ़ाएं | यह उपाय भाग्य की बाधाओं और रुकावटों से मुक्ति दिलाने में लाभदायक होता है | जब भाग्य के सितारे अच्छी स्थिति में आ जाते हैं तो आर्थिक लाभ के योग्य भी बनने लगते हैं |
  1. महालक्ष्मी की पूजा है ज़रूरी – जब धन लाभ की बात चल रही हो तो हम महालक्ष्मी को कैसे भूल सकते हैं | शुक्रवार को देवी महालक्ष्मी की पूजा अवश्य करें और माता की मूर्ती या चित्र के समक्ष बैठकर 108 बार ऊं श्रीं नमःमंत्र का जाप करें | इस उपाय को अपनाने से धन की देवी माँ लक्ष्मी आप पर प्रसन्न होकर अपनी कृपा बरसाएंगी और धन संबंधी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी |
  2. कुंडली दोष निवारण अपनी कुंडली के दोष-निवारण हेतु आप शिवलिंग पर प्रत्येक सोमवार को कच्चा दूध अर्पित करें | इससे धन की हानि से मुक्ति मिलेगी |
No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>